दुनिया का अनोखा रहस्य भीम कुंड:भारतीय वैज्ञानिकों के साथ साथ नासा के वैज्ञानिक भी आज तक रहस्य से नही उठा पाएं पर्दा


Source PBH | 09 Jun 2020 | 717

 

दुनिया का अनोखा रहस्य बुंदेलखंड का भीम कुंड वैसे तो देखने में एक साधारण कुंड लगता है, लेकिन इसकी खासियत है कि जब भी एशियाई महाद्वीप में कोई प्राकृतिक आपदा घटने वाली होती है तो इस कुंड का जलस्तर पहले ही खुद-ब-खुद बढ़ने लगता है।इस कुंड का पुराणों में नील कुंड के नाम से जिक्र है,जबकि लोग अब इसे भीम कुंड के नाम से जानते हैं l भीम कुंड मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में है l आज तक मापी नहीं जा सकी कुंड की गहराई भीम कुंड की गहराई अब तक नहीं मापी जा सकी है l कुंड के चमत्कारिक गुणों का पता चलते ही डिस्कवरी चैनल की एक टीम कुंड की गहराई मापने के लिए आई थी, लेकिन ये इतना गहरा है कि वो जितना नीचे गए उतना ही अंदर और इसका पानी दिखाई दिया l बाद में टीम वापिस लौट गई l रोचक इतिहास कहते हैं अज्ञातवास के दौरान एक बार भीम को प्यास लगी, काफी तलाशने के बाद भी जब पानी नहीं मिला तो भीम ने जमीन में अपनी गदा पूरी शक्ति से मारी, जिससे इस कुंड से पानी निकल आया l इसलिए इसे भीम कुंड कहा जाता है l भौगोलिक घटना से पहले देता संकेत जब भी कोई भौगोलिक घटना होने वाली होती है यहां का जलस्तर बढ़ने लगता है, जिससे क्षेत्रीय लोग प्राकृतिक आपदा का पहले ही अनुमान लगा लेते हैं l नोएडा और गुजरात में आए भूकंप के दौरान भी यहां का जलस्तर बढ़ा था l सुनामी के दौरान तो कुंड का जल 15 फीट ऊपर तक आ गया था l



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved