साप्ताहिक बाजारों के नोटों के चकाचौंध के आगे वसई विरार शहर मनपा के अधिकारी लाचार:संजय गुप्ता


Source PBH | 14 Mar 2020 | 707

 वसई विरार शहर मनपा के अंतर्गत साप्ताहिक बाजारों की बाढ़ से आ गई है, कुछ छूट भैये नेताओं ने द्वारा हर मुहल्ले के कोने पर या किसी सोसायटी के बाहर सड़को पर या कही भी खाली पड़ी जमीनों पर अवैध रूप से साप्ताहिक बाजार लगाए जाते है , मनपा के अतिक्रमण विभाग भी पूरी तरह से उदाशीन है इन अवैध रूप से चल रहे साप्ताहिक बाजारों में कोई सुरक्षा व्यस्था नही रहती है लगभग हर साप्ताहिक बाजार में 150 से 200 दुकाने सजती है ,हर दुकान से अवैध वसूली होती है , इन अवैध वसूली में मनपा अधिकारी भी शामिल है जिसके वजह से मनपा का अतिक्रमण विभग चुप्पी साधे बैठा है , वसई विरार मनपा के अंतर्गत 9 प्रभाग है सब माब अवैध साप्ताहिक बाजार जोरो में चलता है ,लेकिन कही भी मनपा की दखलंदाजी नही होती है एवर शाइन ,सन शाईन ,अचोले ,नगरसेविका नीलिमा गायकवाड के बगले के सामने, डी मार्ट नालासोपारा पूर्व , दी मार्ट विरार पूर्व मोहक सिटी ,सेंट्रल पार्क , वालीव ,पेल्हार ,चंदन सार ,हर नाके पर जहा मनपा की जमीन खाली पड़ी है , या निजी जमीन खाली पड़ी है कुछ लोगो द्वारा वहां पर साप्ताहिक बाजार चालु कर दिया जाता है , मनपा का अतिक्रमण विभाग अपना हिस्सा ले कर सोया रहता है उस हिस्से में सभी की हिस्सेदारी बनी रहती है , वसई विरार शहर मनपा के अंतर्गत महीने में लगभग 100 से 125 जगह पर बाजार लगते है ,मनपा को मिलने वाली रेवेन्यू को अच्छा खासा झटका लग रहा है मनपा के लाचार अधिकरियो के कारण



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved