शुरूआती जांच के बाद बोले पुलिस सूत्र,आतंकियों से पैसे लेकर सुरंग पार कराता था डीएसपी


Source PBH | 14 Jan 2020 | 629

नई दिल्ली आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देविंदर सिंह ने पूछताछ में जांच एजेंसियों को बताया कि वह उन आतंकियों को सरेंडर कराने ले जा रहा था। सूत्रों ने यह जानकारी दी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पूछताछ से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि हम लोग देविंदर सिंह के दावे की जांच कर रहे हैं। हालांकि अगर आतंकियों को सरेंडर कराए जाने की बात होती तो कई अन्य अफसरों के पास भी वह सूचना होती, लेकिन किसी बड़े अफसर के पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है। एक पुलिस अधिकारी ने सूत्रों को बताया कि शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि देविंदर सिंह आतंकियों से पैसे लेकर उन्हें बनिहाल सुरंग पार कराते थे। इस बार भी 12 लाख रुपये में डील हुई थी। वह खुद गाड़ी में इसलिए बैठे थे ताकि कोई पुलिस अधिकारी को वाहन में बैठा देखकर न रोकेगा न टोकेगा। जांच में यह भी पता चला कि नवीद बाबू ने ये पैसे न सिर्फ रास्ता पार कराने बल्कि जम्मू में शेल्टर देने के लिए भी दिए थे। सूत्रों ने बताया कि शुरुआती जांच से पता चला है कि कम से कम पांच बार डीएसपी ने आतंकियों को बनिहाल सुरंग पार कराने और जम्मू में शेल्टर देने के बदले पैसे वसूले हैं। इस बीच इस मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए को सौंप दी गई है। इस बात को जांच के दायरे में रखा गया है कि कहीं आतंकी दिल्ली में 26 जनवरी से पहले कोई वारदात करने तो नहीं आ रहे थे? डीएसपी देविंदर सिंह को हिजबुल कमांडर सैयद नवीद मुश्ताक उर्फ बाबू और इरफान शफी मीर के साथ शनिवार को गिरफ्तार किया गया था। सोमवार को एजेंसियों ने श्रीनगर में इंदिरा नगर स्थित उसके घर की तलाशी ली। यहां से कई चीजें बरामद हुई हैं, लेकिन पुलिस ने उसका ब्यौरा देने से इनकार कर दिया। नवीद के साथ पकड़ा गया दूसरा शख्स वकील है और वह पांच बार पाकिस्तान जा चुका है। आरोप है कि वह वहां ‘हैंडलरों’ के संपर्क में था। वापस लिया जा सकता है अवॉर्ड बहादुरी के लिए राष्ट्रपति मेडल से सम्मानित देविंदर सिंह से उसका अवॉर्ड वापस लिया जा सकता है। इस पर विचार शुरू हो गया है। इससे पहले संसद हमले के दोषी अफजल गुरु के एक पत्र के जरिए जब देविंदर सिंह का नाम सामने आया था। अफजल ने आरोप लगाया था कि डीएसपी ने उसे और उसके परिवार को उनके आदेश न मानने पर काफी प्रताड़ित किया था, लेकिन संसद हमले में इस पुलिस अधिकारी का नाम उछलने पर राज्य पुलिस और खुफिया एजेंसियों ने तमाम आरोपों को खारिज कर दिया था। कांग्रेस ने उठाए सवाल कांग्रेस ने सोमवार को सवाल किया कि संसद और पुलवामा में हुए हमलों में इस अधिकारी की क्या भूमिका थी? क्या वह एक बड़ी साजिश का प्यादा भर है? पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, देविंदर सिंह कौन है? पुलवामा हमले में उसकी क्या भूमिका थी जहां वह डीएसपी था? क्या वह हिजबुल आतंकियों को खुद लेकर जा रहा था या सिर्फ एक प्यादा है और बड़े साजिकशकर्ता कहीं और हैं? क्या एक बड़ी साजिश है।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved