200से ज्यादा सड़को पर दौड़ती है चतुर्वेदी ट्रेवल्स की बसे अलीगंज,एटा,आगरा मार्ग पर डग्गामार वाहनों का आतंक रोडवेज के रंगो रंगी हुई सरपट दौड़ रही है बसें


Source PBH | 11 Jan 2020 | 2258

  एटा से शुभम कुमार की रिपोर्ट 

 एटा/फर्रूखाबाद: सड़को पर कई बार मौत का तांडव मचाने वाले डग्गामार वहानों के खिलाफ प्रशासन आखिर मौन क्यो बना हुआ है।डग्गामार वाहनों के खिलाफ सफल अभियान क्यो नही चला पा रहा है। ये कही न कही उस ट्रैवल माफिया के रौनक शाही अंदाज को दर्शाता है। फर्रुखाबाद से शुरू होने वाला ये खेल एटा और फर्रुखाबाद में अपना आतंक फैलाये हुए है।रोडवेज बस स्टैंड के सामने सवारियों की डग्गामारी शुरू होती है और जिम्मेदार मूकदर्शक बनकर खड़े होकर के केवल मात्र तमाशा देखते है। भरपूर चपेट में है एटा फर्रुखाबाद मुख्यालय से डग्गामारी का खेल शुरू होने के बाद ये बसे कायमगंज,अलीगंज होते हुए एटा तक चलती है।लेकिन जिम्मेदारों पर कोई फर्क नजर ही नही आता है। जब कोई बड़ा हादसा हो जाता है तो केवल संवेदनाए व्यक्त करने तक चलने वाला खेल शांत हो जाता है। आइए फर्रुखाबाद से एटा तक का करते है विष्लेषण सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार फर्रुखाबाद से चलने वाले वाहनों का हर जगह पर पैसा फिक्स है, तो फिर कार्रवाई भी किस नाम होगी। विश्लेषण में फर्रुखाबाद से एटा तक 5-4 थाना क्षेत्रों की सीमाएं पड़ती है। फर्रुखाबाद के कोतवाली नगर फर्रुखाबाद,थाना मऊ दरवाजा,थाना भोजपुर, थाना शमसाबाद,थाना कायमगंज स्थित है तो वही एटा के अलीगंज,जैथरा,बागवाला,और कोतवाली नगर एटा पड़ता है। कुल नौ थानों क्षेत्रों की पड़ने वाली सीमाओं से सरपट ये बसे (डग्गामार वाहन) निकलती हुई चली जाती है। जिम्मेदार जानकर के भी अनजान बने रहते है। क्या है चतुर्वेदी ट्रैवल्स चतुर्वेदी ट्रैवल्स एक ट्रैवल एजेंसी का बड़ा माफिया है। इस कदर का माफिया अगर इसकी कोई भी बस फर्रुखाबाद से दिल्ली तक पकड़ी जाती है तो वो कुछ ही घण्टो में छूट के बाहर हो जाती है। अब बस के अंदर भी काफी चीजे रख कर आती है। जैसे कि टैक्स बचाने के लिए भारी मात्रा में सामान। इस माफिया का मुख्य दफ्तर फर्रुखाबाद रोडवेज बस अड्डे के पास में संचालित होता है। जबकि कमीशन के आधार पर इसने हर कस्बे में अपना अपना एक एजेंट नियुक्ति कर रखा है।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved