जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष पर हमला कई छात्र घायल


Source PBH | 05 Jan 2020 | 417

 नई दिल्ली । जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और वामपंथी छात्र संगठनों ने एक दूसरे पर रविवार को लाठी से मारपीट करने और एक दूसरे पर पत्थर फेंकने का आरोप लगाया है। एक दूसरे पर हिसंक गतिविधि में शामिल होने का भी आरोप लगाया गया। दोनों ही गुटों की तरफ से बताया गया कि रविवार को हुए इस घटनाक्रम में एबीवीपी और वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़े छात्र घायल ही गए हैं। कुछ छात्रों को एम्स व सफदरजंग अस्पताल भी ले जाया गया है। जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष ने आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे ऊपर एबीवीपी (ABVP) के कार्यकर्ताओं ने हमला किया। सिर और गंभीर रूप से छोटें आई हैं और खून निकला है। उनके साथ मौजूद छात्रों ने कहा कि उन्हें नजदीकी अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया। Also Read - हिंसा में मरे लोगों के परिवारों को पांच लाख रुपये देगी समाजवादी पार्टी आरोप है कि इस घटना में छात्र संघ के महासचिव सतीश चंद्र यादव को भी चोट आई है। छात्र संघ का आरोप है कि कई छात्र छात्रावास की फीस बढ़ोतरी के खिलाफ कैंपस में प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन एबीवीपी ने उन पर हमला कर दिया और पत्थर फेंके। वहीं एबीवीपी के जेएनयू यूनिट के अध्यक्ष दुर्गेश कुमार ने वामपंथी छात्र संगठनों और छात्र संघ पर आरोप लगाते हुए कहा कि रविवार के दिन मॉनसून सेमेस्टर के लिए उन छात्रों का पंजीकरण का आखिरी दिन था, जो दिसंबर महीने में परीक्षा नहीं दे पाए थे। साथ ही जनवरी से शुरू होने वाले विंटर सेमेस्टर के लिए भी 5 जनवरी तक छात्रों को पंजीकरण कराने की तिथि निर्धारित की गई थी। लेकिन दो से तीन दिनों से वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़े कई छात्रों ने पंजीकरण को बाधित किया। पंजीकरण जिस कार्यालय में ही रहा था, संचार व सूचना सेवा कार्यालय , उसकी इंटरनेट सेवा शनिवार रात को इनके द्वारा ठप कर दी गई। इसके कारण रविवार को पंजीकरण करने अंतिम दिन कोई पंजीकरण नहीं हो सका। रविवार को 3 बजे एबीवीपी से जुड़े छात्र प्रशासनिक भवन के पास स्थित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर इकट्ठा हुए और कोशिश की की पंजीकरण की व्यवस्था को शुरू किया जा सके लेकिन इसके फौरन बाद वामपंथी छात्र संगठनों एक जुटे और हमारी ओर बड़े और हमला शुरू कर दिया। दुर्गेश ने आरोप लगाते हुए कहा कि एबीवीपी से जुड़े सभी कार्यकर्ता पेरियार छात्रवास की तरफ अपने आप को सुरक्षित करने के पहुंचे लेकिन यहां पर लेफ्ट से जुड़े छात्रों ने एबीवीपी के छात्रों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा और इन पर लेफ्ट ने पथराव भी किया। दुर्गेश ने आरोप लगाते हुए दावा किया कि इस घटना में उनके संगठन से जुड़े कई छात्र घायल हो गए। जिन्हें एम्स ट्रामा सेंटर और सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि महिला और पुरूष सुरक्षा कर्मियों के साथ भी लेफ्ट के छात्रों ने मारपीट की है। वहीं वामपंथी छात्र संगठनों ने आरोप लगाया है कि एबीवीपी ने कैंपस में तोड़फोड़ की है और उनके छात्रावास में घुसकर छात्रों को पीटा है। वहीं लेफ्ट ने सुरक्षा कर्मियों के साथ मारपीट से इन्कार किया है। वहीं महिला व पुरुष सुरक्षा कर्मियों ने आरोप लगाया है कि उनके साथ छात्रों ने खराब व्यवहार किया और मारपीट की, वह जब छात्रों को संभाल रहे थे रविवार को तब ऐसा किया गया।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved