होता वक्त जाया:कृष्णेन्द्र राय


Source PBH | 02 Jun 2021 | 44

कोर्ट भी समझ रहा।

 होता वक्त जाया।। 

याचिकाकर्ताओं को। 

सही राह बतलाया।। 

बात सेंट्रल विस्टा। 

आइना दिखाया।। 

ठोककर जुर्माना। 

शांत है कराया ? 

लगा विरोध चक्कर। 

जाते सब कुछ भूल।। 

छेड़छाड़ ना ठीक। 

जो बातें कुछ मूल।। 

हास्यास्पद है स्थिति। 

कोर्ट की फटकार। 

हैं कितने गंभीर ? 

समझें इस प्रकार।।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved