ATS को मिली बड़ी सफालता,जाली नोटों का सौदागर को किया गिरफ्तार


Dhananjay Singh | 13 Apr 2021 | 114

वाराणसी।आध्यात्मिक नगरी में आतंकवाद निरोधक दस्ते की वाराणसी इकाई ने सोमवार की रात कैंट रोडवेज क्षेत्र से प्रयागराज के दारागंज थाने का वांछित 25 हज़ार का इनामिया जाली नोटों की तस्करी करने वाले राहुल यादव को पकड़ने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। एटीएस ने उसे कैंट से पकड़ा है। फिलहाल एटीएस ने राहुल को प्रयागराज के दारागंज पुलिस के हवाले कर दिया है। राहुल यादव के ऊपर प्रयागराज में 2019 में जाली नोट खपाने का आरोप है। इससे सम्बंधित एक व्यक्ति को एटीएस ने 2019 में प्रयागराज से गिरफ्तार किया था। इस सम्बन्ध में ATS आईजी जीके गोस्वामी ने बताया कि दो साल पहले 15 फरवरी 2019 को को यूपी एटीएस ने जाली भारतीय मुद्रा को पश्चिम बंगाल के मालदा से लाकर उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों में सप्लाई करने के आरोप में अभियुक्त बप्पा शेख निवासी ग्राम मोहनपुर, पोस्ट शब्दलपुर थाना वैष्णव नगर, जिला मालदा, पश्चिम बंगाल को प्रयागराज के अलोपीबाग चौराहे से गिरफ्तार किया था। उसके पास से 3 लाख 40 हज़रा रुपये की जाली भारतीय करेंसी बरामद हुई थी। जांच और पूछताछ में पता चला कि बप्पा शेख उपरोक्त जाली मुद्रा चम्पारण बिहार निवासी राहुल कुमार यादव को देने के लिए प्रयागराज आया था। इस पर जांच की गयी तो पता चला कि राहुल साल 2018 से महाराष्ट्र के पूना में रहकर जाली नोट का धंधा कर रहा है। 8 वीं पास राहुल यादव ने पूना और मुंबई में अपने ऑफिस बना रखे थे और यहाँ के कर्मचारियों को सरकारी कर्मचारी की तरह सेलेरी के साथ सभी अलाउंस दिए जाते थे। लाॅकडाउन में धंधा मंदा होने के बाद राहुल एक बार फिर अपना कारोबार खड़ा करने की कोशिश में लगा हुआ था। सोमवार को राहुल चम्पारण से छुप-छुपाकर बसों को बदल-बदल कर वाराणसी पहुंचा था। यहां अपने पुराने सहयोगियों से मुलाक़ात के सिलसिले से आया था जब ATS ने रोडवेज से उसे गिरफ्तार कर लिया। अग्रिम कार्रवाई के लिए एटीएस ने उसे प्रयागराज पुलिस को सौंप दिया है।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved