अवैध शराब के कहर से दो सगे भाइयों समेत पांच की मौत,थानाध्यक्ष व लेखपाल निलंबित


Dhananjay Singh | 01 Apr 2021 | 116

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में जहरीली शराब का हो रहा अंधाधुंध कारोबार ने एक बार फिर सगे भाइयों सहित पांच लोगों को निगल लिया हैं। थाना उदयपुर क्षेत्र के बाबा गांव कटरिया के चार व रांकी के एक व्यक्ति की जहरीली शराब पीने से मौत हुई है, तो वही आहड़ बीहड़ गांव में दो लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई।तीन की हालत नाजुक बनी है।शराब से मौत की खबर से हड़कंप मच गया। शराब से मौत की खबर पर जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल आनन-फानन में गांव पहुंचे।जिलाधिकारी ने लेखपाल को तो पुलिस अधीक्षक ने थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया। मौके पर पहुंचे एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश ने मातहतों की क्लास लगाई। जांच पड़ताल में ये बाते सामने आई कि प्रधान पद के दावेदार ने इन लोगों को शराब पिलाई थी। एक प्रधान पद के दावेदार को हिरासत में भी लिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उदयपुर थाना क्षेत्र के कटरिया गांव के निवासी 35 वर्षीय प्रदीप कोरी व उसका 50 वर्षीय भाई दिलीप कोरी मंगलवार को अपने मामा सिद्धनाथ कोरी निवासी रांकी के साथ गांव में प्रधान पद के दावेदार के जुलूस में शामिल होने के लिए गए थे। रात लगभग दस बजे दोनों भाई घर लौटे मगर मामा सिद्धनाथ साइकिल से अपने घर को जाने के लिए चला गया।रात करीब 12 बजे के बाद अचानक प्रदीप की हालत बिगड़ गई। परिवार के उसे लेकर सीएचसी सांगीपुर पहुंचे। वहां से डाक्टरों ने जिला अस्पताल भेज रिफर कर दिया।जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में प्रदीप की मौत हो गई। परिजन शव को लेकर घर लेकर लौटे तो दिलीप की भी हालत बिगड़ गई।परिवार वाले उसे रायबरेली लेकर जा रहे थे और रास्ते में दिलीप की भी मौत हो गई। दोनों भाइयों की मौत से गांव में कोहराम मच गया। बुधवार की सुबह सिद्धनाथ का शव अठेहा बाजार में मिला। मामा व सगे भाइयों के मौत की खबर से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। कटरिया गाँव निवासी राममिलन कोरी ने भी मंगलवार की रात शराब पी थी और बुधवार की सुबह उसकी भी तबियत खराब थी और वो अपनी ससुराल अमेठी चला गया।ससुराल पहुंचने पर राममिलन की हालत बिगड़ गई।राममिलन को इलाज के लिए मुंशीगंज स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया।राममिलन की रात लगभग नौ बजे मौत हो गई। गांव के 45 वर्षीय रामपाल सरोज की हालत बिगड़ गई। लेकिन प्राइवेट डॉक्टर से दवा लेने के बाद रामपाल की तबियत ठीक हो गई। लेकिन बुधवार की दोपहर रामपाल की हालत फिर खराब हो गई। परिवार वाले उसे सांगीपुर सीएचसी ले गए।रामपाल ने भी दम तोड़ दिया। पांच मौतों की खबर से पूरे जिले में हड़कंप मच गया। लापरवाह थानाध्यक्ष उदयपुर सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे और तोते की तरह सभी की प्राकृतिक मौत बताने का पहाड़ा पढ़ने लगे लेकिन परिवार के लोग सभी के शराब पीने की बात कहते रहे। मृतक प्रदीप का बेटा प्रवीण ने बताया कि सभी लोग प्रधान पद के दावेदार के जुलूस में शामिल होने के लिए गए हुए थे, जहां पर सभी ने शराब पी थी। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दूसरी ओर आहड़ बीहड़ गांव के गिरिजा का पुरवा में 35 वर्षीय राजकुमार प्रजापति का बुधवार को तो गांव के ही 60 वर्षीय राम किशुन सरोज की मंगलवार की रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। परिवार वालों ने राम किशुन के शव का बुधवार को गांव में ही अंतिम संस्कार भी कर दिया।राम किशुन के परिवार के लोग शराब से मौत नहीं होने का दावा कर रहे हैं मगर गांव के लोगों का कहना है कि शराब पीने से दोनों की मौत हुई है। वहीं शराब पीने से गंभीर रूप से बीमार कटरिया के धर्मेंद्र सिंह का इलाज लखनऊ में चल रहा है।कटरिया के ही 40 वर्षीय ओम प्रकाश व उनके 65 वर्षीय पिता शिव नारायण की तबीयत भी खराब है। घटनास्थल पर पहुंचे जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल व पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने लेखपाल संजय यादव व थानाध्यक्ष राकेश कुमार को सस्पेंड कर दिया। प्रयागराज के अपर आबकारी आयुक्त दिनेश सिंह व जिला आबकारी अधिकारी पार्थ रंजन भी मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल करते नजर आए। जिलाधिकारी ने राजस्व, पुलिस व आबकारी की संयुक्त टीम को प्रत्येक पुरवों में जाकर शराब पीने से बीमार लोगों को चिह्नित कर अस्पताल भेजने का निर्देश दिया। कटरिया गांव पहुंचे एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश ने भी अधिकारियों की जमकर कलास लगाई। इसके पहले एडीजी ने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर मृतक के परिजनों से घटना की जानकारी ली।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved