मंत्री के समर्थकों व किसानों में जमकर हुई मारपीट, बुलाई गई पंचायत


Dhananjay Singh | 22 Feb 2021 | 404

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र के गांव शौरम में आज दोपहर एक तेहरवीं में शामिल होने गए केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान व अन्य भाजपा नेताओं के सामने मुर्दाबाद के नारे लगे।नारे लगाने को लेकर भाजपा समर्थकों तथा किसानों के बीच जमकर मारपीट हुई।इस मामले में रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी भी कूद पड़े हैं। आज दोपहर केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान अन्य भाजपा नेताओं के साथ शाहपुर थाना क्षेत्र के एक गांव शौरम में तेहरवीं के कार्यक्रम में समल्लित होने गए हुए थे। संजीव बालियान तेहरवीं के बाद पूर्व ग्राम प्रधान सुधीर चौधरी के निवास पर गए।सुधीर चौधरी के पिता से आर्शीवाद लिया। इसी बीच कुछ युवाओं ने मुर्दाबाद एवं किसान एकता जिंदाबाद के नारे जोर जोर से लगाने लगे।नारे की वजह से माहौल गर्म हो गया। मंत्री समर्थक व किसान आंदोलन समर्थक आमने सामने हो गए और जमकर मारपीट की और स्थित तनावपूर्ण हो गई।मारपीट में किसानों के चोटिल होने की भी सूचना है। इस मामले में रालोद नेता जयंत चौधरी ने ट्वीट भी किया है। जयंत चौधरी ने ट्वीट करते हुए लिखा है- शौरम गांव में बीजेपी नेताओं और किसानों के बीच संघर्ष, कई लोग घायल! किसान के पक्ष में बात नहीं होती तो कम से कम, व्यवहार तो अच्छा रखो. किसान की इज्जत तो करो! कानूनों के फायदे बताने जा रहे सरकार के नुमाइंदों की गुंडागर्दी बर्दाश्त करेंगे गांव वाले? जयंत चौधरी ने घायल किसानों की फोटो को भी शेयर किया है। इस मारपीट में कई किसान घायल हुए हैं। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस पहुंची और दोनों पक्षों को समझाया।पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी हैं। इस घटना के बाद शौरम में यह सूचना फैली कि पुलिस ने कुछ किसान आंदोलन समर्थकों को हिरासत में लिया है।इसकी वजह से माहौल बहुत गर्म हो गया और तुरंत शौरम की ऐतिहासिक चौपाल में पंचायत बुलाई गई। पंचायत में पूर्व मंत्री योगराज सिंह तथा रालोद के कई बड़े नेता भी शामिल हुए। पंचायत के बाद हजारों किसानों ने शाहपुर थाने का घेराव कर दिया। आपको बताते चले कि नए कृषि कानूनों को लेकर बीजेपी के मेगा प्लान पर किसानों का आक्रोश भारी पड़ रहा है। नए कृषि कानूनों के फायदे बताने पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का रविवार को शामली में भारी विरोध हुआ था। शामली के भैंसवाल में संजीव बालियान और बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई थी। आक्रोश इतना था कि ग्रामीणों ने मंत्री के काफिले के आगे ट्रैक्टर सटाकर उनको गांव में घुसने नही दिया था। इस पर संजीव बालियान ने कहा था कि 10 लोगों के विरोध करने से और मुर्दाबाद बोलने से मैं मुर्दा नहीं हो जाऊंगा।भारी विरोध की वजह से मंत्री का काफिला गांव से वापस हो गया था।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved