प्रियंका की रैली में उमड़ा जन सैलाब,पीएम पर बोला जबरदस्त हमला,अरसे बाद तेवर में दिखी कांग्रेस


Dhananjay Singh | 20 Feb 2021 | 61

पश्चिमी उत्तर के मुजफ्फरनगर जिले के बघरा में हुई आज किसान महापंचायत में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी बहुत तेवर में दिखी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जबरदस्त हमला बोला है।प्रियंका ने कहा कि जितना देश के किसानों का कुल भुगतान है। उससे अधिक प्रधानमंत्री के दो हवाई जहाजों की कीमत है। प्रियंका ने कहा जो कृषि कानून किसानों पर थोपा जा रहा हैं, वो सिर्फ और सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूंजीपति दो मित्रों को लाभ देने के लिए हैं। प्रियंका ने कहा कि हर नेता को ये महसूस होना चाहिए कि सबसे बड़ा अहसान उस पर जनता का होता है। आप लोग यहां पर मुझे सुनने के लिए आये हैं, इसके लिए मैं आपकी बहुत अहसानमंद हूं और कहा कि आज देश की जो हालत है, वो किसी से छिपी नहीं है। आज एक ऐसा समय है, जब 90 दिनों से किसान आंदोलित है। 215 किसान शहीद हो गये बिजली काटी गई, पानी रोका गया, किसानों को पीटा गया जबकि किसान शांतिपूर्वक बैठे थे।राष्ट्रीय राजधानी को ही सरहद बना दिया जैसे दो देशों की सरहद हो। किसानों को प्रताड़ना दी गई।जो किसान अपने बेटे को देश की रखवाली करने के लिए भेजता है उसे जलील किया गया देशद्रोही कहा गया आतंकवादी कहा गया। प्रधानमंत्री ने किसानों को परजीवी कहा,आंदोलनजीवी कहा। किसानों का मजाक उड़ाया। प्रियंका ने कहा कि इंसान की तरह ही देश का भी दिल होता है और दिल धड़कने से ही देश जीवित रहता है। हमारे देश का दिल किसान हैं, जो जमीन से जुड़ा है, जो जमीन को सींचता है, उसे उपजाऊ बनाता है। देश को जीवित करता है।प्रियंका ने कहा कि किसानों के घर से लूट हो रही है और प्रधानमंत्री के दो पूंजीपति मित्रों को पूरी छूट है। प्रियंका ने कहा कि पूरे देश में गन्ने का भुगतान 15 हजार करोड़ है। प्रधानमंत्री ने दुनिया में भ्रमण करने के लिए दो हवाई जहाज खरीदे हैं, जिनकी कीमत 16 हजार करोड़ रुपये है, जो कि किसानों के गन्ने भुगतान से कहीं अधिक है। हवाई जहाज खरीदने के लिए पैसे हैं, लेकिन देश के किसानों को पैसा देने के लिए नहीं।प्रियंका ने कहा कि पिछले चार वर्षों से गन्ने की कीमत नहीं बढ़ी है। वहीं दूसरी तरफ संसद भवन और इंडिया गेट के आसपास की इमारतों के सौन्दर्यीकरण के लिए 20 हजार करोड़ की योजना बनाई जा रही है। सौन्दर्यीकरण के लिए पैसे हैं, लेकिन किसानों के लिए नहीं हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि वर्ष 2018 में डीजल 60 रुपये था, आज कहीं 80 है, तो कहीं 90 है और डीएपी 2018 में 1100 थी, आज 1200 रुपये है। बिजली के दाम बढ़ते जा रहे हैं। गैस सिलिंडरों की कीमतें बढ़ती जा रही है। गन्ने का दाम नहीं मिल रहा है। जनता को बताया कि सरकार ने पिछले साल डीजल पर टैक्स लगाकर साढ़े तीन लाख करोड़ कमाये हैं, वो पैसा कहां गया। 2014 से अब तक डीजल और पेट्रोल पर टैक्स बढ़ाकर अब तक 21 लाख 50 हजार करोड़ कमाये गये हैं, वो पैसा कहां गया जिनका उस पैसे पर हक है, जो दिन-रात काम करता है, अपने खून-पसीने से सींचता है, उसे वो पैसा क्यों नहीं दिया गया। नौजवानों को क्यों नहीं दिया गया। दिल्ली का बॉर्डर नरेंद्र मोदी जी के घर से कितनी दूर है, लगभग पांच-छह किलोमीटर दूर होगा। प्रधानमंत्री जी अमेरिका जा सकते थे, पाकिस्तान जा सकते थे, चीन जा सकते थे, जिन्होंने पूरी दुनिया में भ्रमण किया, वो उन किसानों के पास नहीं पहुंच पाये। वो किसानों के आंसू नहीं पोंछ पाये। उनकी बात नहीं सुन पाये। क्योंकि उनकी राजनीति सिर्फ अपने लिए है और खरबपति पूंजीपतियों के लिए है। आज पूरा देश तड़प रहा है, किसान तड़प रहा है, लेकिन भुगतान नहीं हो रहा है। इसी साल में खरबपति मित्रों ने कितना पैसा कमाया, यह जानकर आप चौक जायेंगे। उन्होंने हजारों करोड़ कमाया है और किसान सड़क पर बैठे हुए आंदोलन कर रहे हैं। फिर भी कोई सुनने को तैयार नहीं। जो तीन कानून निकाले हैं, उनका नुकसान तो सभी को मालूम है।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry

© Copyright 2019 | Pratapgarh Express. All rights reserved